गैस्ट्रोस्काइसिस

गैस्ट्रोस्काइसिस एक जन्म दोष है जिसमें बच्चे की आंत पेट के बगल में एक छेद के माध्यम से शरीर के बाहर फैली हुई है। छेद का आकार परिवर्तनीय है, और पेट और यकृत सहित अन्य अंग बच्चे के शरीर के बाहर भी हो सकते हैं। जटिलताओं में भोजन की समस्याएं, समयपूर्वता, आंतों के एट्रेसिया, और इंट्रायूटरिन वृद्धि मंदता शामिल हो सकती है। इस रोग के कारण आमतौपर अज्ञात है। धूम्रपान करने वाली या शराब पीने वाली, या 20 साल से कम उम्र वाली माँ में अधिक होती हैं। गर्भावस्था के दौरान अल्ट्रासाउंड निदान कर सकते हैं। अन्यथा जन्म पर निदान होता है।
इस रोग के उपचार में शल्य चिकित्सा शामिल है। यह आमतौपर जन्म के कुछ ही समय बाद होता है। बड़े दोष वाले लोगों में उजागर अंग विशेष सामग्री से ढके जा सकते हैं और धीरे-धीरे पेट में वापस चले जाते हैं। यह स्थिति लगभग ४% यानि १०,000 नवजात बच्चों को प्रभावित करती है।

image

1. संकेत और लक्षण
इस रोग का गर्भावस्था के दौरान कोई संकेत नहीं होता परंतु गैस्ट्रोस्काइसिस के साथ लगभग ६०% शिशु जन्म लेते हैं। जन्म के समय, बच्चे को पेट की दीवार में अपेक्षाकृत छोटा (