Топ-100 ⓘ फ्रिडेल-क्राफ्ट्स अभिक्रियाएँ कार्बनिक अभिक्रियाओं का एक समू
पिछला

ⓘ फ्रिडेल-क्राफ्ट्स अभिक्रियाएँ कार्बनिक अभिक्रियाओं का एक समूह है जिसका आविष्कार चार्ल्स फ्रिडेल और जेम्स क्राफ्ट्स ने सन् १८७७ में किया था। वस्तुत: ये अभिक्रिया ..


                                     

ⓘ फ्रिडेल-क्राफ्ट्स अभिक्रिया

फ्रिडेल-क्राफ्ट्स अभिक्रियाएँ कार्बनिक अभिक्रियाओं का एक समूह है जिसका आविष्कार चार्ल्स फ्रिडेल और जेम्स क्राफ्ट्स ने सन् १८७७ में किया था। वस्तुत: ये अभिक्रियाएँ ब्रेज़ीन वलय में एक या एक से अधिक हाइड्रोजन परमाणुओं को ऐल्किल या ऐसिल समूहों द्वारा प्रतिस्थापित करने की विधियाँ हैं। इन अभिक्रियाएं मुख्य रूप से दो प्रकार की हैं - एल्काइलीकरण अभिक्रियाएं तथा एसीलीकरण अभिक्रियाएँ। इन अभिक्रियाओं का सामान्य अभिक्रिया प्रक्रिया नीचे दर्शायी गयी है-

या,

A r − H + R − C l → A l C l 3 A r − R + H C l {\displaystyle \mathrm {Ar-H\ +\ R-Cl{\xrightarrow {AlCl_{3}}}\ Ar-R\ +\ HCl} } Ar का अर्थ है - एरोमटिक और R का अर्थ है - एल्किल समूह। तीर के उपर उत्प्रेरक का नाम लिखा है जो यहाँ पर एलुमिनियम क्लोराइड है।

इस अभिक्रिया के तीन विभिन्न अंग हैं-

1 ऐरोमेटिक यौगिक - इसका ऐल्काइलीकरण करना होता है, जिसमें हाइड्रोकार्बन या उनके हैलोजन, हाइड्रॉक्सी, ऐमिनो आदि व्युत्पन्न हो सकते हैं। विषम चक्रीय यौगिकों का भी ऐल्काइलीकरण किया जा सकता है।

2 ऐल्काइलीकारक alkylating agent - यह ऐल्किल केलाइड, ऐलिफ़ैटिक ऐल्कोहल, ऐलकीन या चक्रीय ऐलकेन cycloparagffin हो सकते हैं।

3 उत्प्रेरक catalyst - इस अभिक्रिया का सबसे उत्तम उत्प्रेरक निर्जल ऐल्यूमीनियम क्लोराइड है, परंतु इसके अतिरिक्तजिंक, टिन के क्लोराइड, बोरन ट्राइफ्लोराइड, हाइड्रोक्लोरिक अम्ल, सल्फ्यूरिक अम्ल तथा फॉस्फरिक अम्ल का उपयोग भी किया जा सकता है।

                                     

1. उदाहरण

हाइड्रोकार्बनों के संश्लेषण में

C 6 H 6 + CH 3 Cl + AlCl 3 ---> C 6 H 5. CH 3 + HCl

C 6 H 6 + Cl CH 2 Cl + C 6 H 6 + AlCl 3 ---> C 6 H 5 C H 2 C 6 H 5 + 2HCl

3C 6 H 6 +C H Cl 3 + AlCl 3 ---> C 6 H 5 3 C H+3HCl

ऐल्डीहाइडों के संश्लेषण में

C 6 H 6 + CH 3 COCl + AlCl 3 ---> C 6 H 5 COCH 3 + HCl

कीटोनों के संश्लेषण में

C 6 H 6 + CH 3 COCl AlCl 3 ---> C 6 H 5 COCH 3 + HCl

C 6 H 6 + C 6 H 5 COCl AlCl 3 ---> C 6 H 5 CO C 6 H 5 + HCl

2C 6 H 6 + COCl 2 AlCl 3 ---> C 6 H 5 CO. C 6 H 5 + 2HCl

अम्लों के संश्लेषण में

C 6 H 6 + COCl 2 AlCl 3 ---> C 6 H 5 COCl + HOH ---> C 6 H 5 COOH

=== चक्रीय यौगिकों के संश्लेषण में ===. फिनोल एलिकल हैलाइड के साथ निर्जल एलुमिनियम क्लोराइडAlCl3 की उपस्थित मे अभिक्रिया करके o-तथा p-एलिकल व्युत्पन्न बनाता हैं।। CH3Cl3+AlCl3 = CH3+AlCl4 C6H5OH+CH3 = C6H4OH-CH

H+AlCl4 = HCl+AlCl3
                                     

2. इस अभिक्रिया की विशेषताएँ

1 क्रियाफल उत्प्रेरक पर निर्भर है।

C 6 H 5 CH 3 + CH 3 Cl AlCl 3 उत्प्रेरक ---> C 6 H 4 CH 3 2 meta

C 6 H 5 CH 3 +CH 3 Cl AlCl 3 उत्प्रेरक ---> C 6 H 4 CH 3 2 Para

2 ऐल्किल हैलाइड - इनकी क्रियाशीलता इस प्रकार है।

फ्लोराइड > क्लोराइड > ब्रोमाइड > आयोडाइड

साथ ही,

तृतीयक हैलाइड > द्वितीयक हैलाइड > प्राथमिक हैलाइड

3 विलायक - यदि अभिकारक द्रव रूप में है, तो विलायक की आवश्यकता नहीं पड़ती, परंतु ठोस रूप के यौगिकों जैसे नैफ्थेलीन के साथ प्रयोग करने के लिए विलायक की आवश्यकता होती है। नाइट्रोबेंज़ीन, कार्बन डाइसल्फाइड, पेट्रोलियम ईथर अच्छे विलायक हैं।

4 ऐल्किन समूहों का समावयवीकरण - इस क्रिया के अंतर्गत प्राथमिक ऐल्किल हैलाइड द्वितीयक में तथा द्वितीयक तृतीयक में परिवर्तित हो जाते हैं, अत: चाहे प्रोपाइल क्लोराइड लें या आइसोप्रोपाइल क्लोराइड, इन क्रियाओं के फलस्वरूप आइसोप्रोपाइल बेंज़ीन ही प्राप्त होगा।

5 बेंज़ीन चक्र में ऑर्थो या पैरा अभिस्थापन करानेवाले समूहों की उपस्थिति में अभिक्रिया अधिक अच्छे प्रकार से होती है तथा मेटा अभिस्थापन करानेवाले समूहों की उपस्थिति में यह कम वेग से होती है, या बिलकुल ही अवरुद्ध हो जाती है।

                                     

3. अभिक्रिया का प्रक्रम Reaction mechanism

यदि प्रक्रिया को सरल रूप में देखा जाय तो इसके पहले चरण में क्लोरीन परमाणु विलग होकर एसिल acyl कैटायन cation बनाता है।

इसके उपरान्त एरीन arene का एसिल समूह acyl group की तरफ न्यूक्लियोफिलिक आक्रमण होता है।

अन्तत: क्लोरीन परमाणु क्रिया करके HCl बनाता है; तथा AlCl 3 उत्प्रेरक पुन: पैदा हो जाता है।

                                     

4. द्विक्षारक अम्लों के ऐनहाइड्राइडों द्वारा फ्रीडल क्रैफ्टस अभिक्रिया

यह क्रिया वसा अम्लों के Ar Co व्युत्पन्नों के संश्लेषण में विशेष महत्व की है, जैसे

b-ऐरोइल प्रोपिऑनिक अम्ल b-aroyl propionic acid.

b-ऐरोइल ऐक्रिलिक अम्ल b-aroyl acrylic acid.

इन अभिक्रियाओं में ऐरोमैटिक हाइड्रोकार्बनों के अनेक व्युत्पन्न तथा द्विक्षारक अम्लों के भी व्युत्पन्न लिए जा सकते हैं, जिसके फलस्वरूप अनेक यौगिकों का संश्लेषण हो सकता है।

                                     

4.1. द्विक्षारक अम्लों के ऐनहाइड्राइडों द्वारा फ्रीडल क्रैफ्टस अभिक्रिया कार्बनिक संश्लेषण में फ्रीडेल-क्राफ्ट्स अभिक्रिया

Friedel-Crafts reactions appear in Organic Syntheses:

  • Alkylations
  • Synthesis of benzophenone from benzene and tetrachloromethane Organic Syntheses, Coll. Vol. 1, p. 95 1941; Vol. 8, p. 26 1928.Article link
  • Reaction of p -xylene with chloromethane to durene Organic Syntheses, Coll. Vol. 2, p. 248 1943; Vol. 10, p. 32 1930. 2 P0248.pdf Article link
  • Diphenylacetone, Organic Syntheses, Coll. Vol. 3, p. 343 1955; Vol. 29, p. 38 1949 3 P0343.pdf Article link.
  • Reaction of bromobenzene with acetic anhydride Organic Syntheses, Coll. Vol. 1, p. 109 1941; Vol. 5, p. 17 1925. Article link
  • Acylations
  • Benzoylation of ferrocene Organic Syntheses, Coll. Vol. 6, p. 625 1988; Vol. 56, p. 28 1977. 6 P0625.pdf Article link
  • Acylation of a phenanthrene compound Organic Syntheses, Vol. 80, p. 227 Link
  • Dibenzoylethylene Organic Syntheses, Coll. Vol. 3, p. 248 1955; Vol. 20, p. 29 1940 3 P0248.pdf Article link.
  • reaction of acenaphthene plus succinic acid Organic Syntheses, Coll. Vol. 3, p. 6 1955; Vol. 20, p. 1 1940. 3 P0006.pdf Article link
  • Desoxybenzoin Organic Syntheses, Coll. Vol. 2, p. 156 1943; Vol. 12, p. 16 1932. 2 P0156.pdf Article link
  • beta-methylanthraquinone, Organic Syntheses, Coll. Vol. 1, p. 353 1941; Vol. 4, p. 43 1925. Article link


                                     
  • व ज ञ न क क न म पर ह न म अभ क र य ओ क क छ उद हरण य ह - व ट ग अभ क र य Wittig reaction फ र ड ल - क र फ ट स अभ क र य ड यल स - अल दर अभ क र य आद

यूजर्स ने सर्च भी किया:

friedel craft reaction class 12, friedel crafts reaction, राइमन टीमन अभिक्रिया, अभकरय, फटस, crafts, reaction, friedel, class, craft, टमन, friedelcraftsreaction, friedelcraftreactionclass, इमन, डलफटसअभकरय, इमनटमनअभकरय, फ्रिडेल-क्राफ्ट्स अभिक्रिया, तिराना. फ्रिडेल-क्राफ्ट्स अभिक्रिया,

...

शब्दकोश

अनुवाद

Friedel craft reaction class 12.

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड. फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रियाएँ Friedel Crafts reactions कार्बनिक अभिक्रियाओं का एक समूह है जिसका आविष्कार इस अभिक्रिया का सबसे उत्तम उत्प्रेरक निर्जल ऐल्यूमीनियम क्लोराइड है, परंतु इसके अतिरिक्तजिंक, टिन के क्लोराइड,. राइमन टीमन अभिक्रिया. Blogs शैवाल Algae एल्गी एल्जी एकवचन:एल्गै सरल. शैवाल Algae एल्गी एल्जी एकवचन:एल्गै सरल सजीव हैं। अधिकांश शैवाल पौधों के समान सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में प्रकाश संश्लेषण की क्रिया द्वारा अपना भोजन स्वंय बनाते हैं अर्थात् स्वपोषी होते हैं। ये एक कोशिकीय से लेकर बहु ​कोशिकीय.


Chemistry – Page 2 – 11th, 12th notes In hindi.

फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया Реакция Фриделя Крафтса. Source GALAXOLIDE CAS1222 05 5 सौंदर्य प्रसाधन के. फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया. English version: Friedel–Crafts reaction. फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रियाएँ कार्बनिक अभिक्रियाओं. फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रियाएँ कार्बनिक. इलैक्ट्रोडों पर होने वाली ऑक्सीकरण एवं अपचयन की अर्द्ध सैल अभिक्रिया लिखिये। c. इस सैल प्रथम कोटि की अभिक्रिया के लिए समाकलित वेग समीकरण व्यंजक की व्युत्पत्ति करें। 3 अंक. 6.​क. फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया. ii. वुर्टज.


What is the friedel crafts reaction Hindi mai.

फिनोल के रासायनिक गुण chemical properties of phenol in hindi, फ्रिडेल क्राफ्ट अभिक्रिया reaction due to H of OH group OH समूह के H की अभिक्रिया फिनोल की ये अम्लीय प्रकृति की अभिक्रिया होती है।. Jac board class 12 chemistry question paper 2017 g. Friedel Crafts reaction फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया. 2. Nuclear chain reaction नाभिकीय शृंखला अभिक्रिया. 3. Neutralization ​chemistry उदासीनीकरण अभिक्रिया. 4. It then passes to the fourth stomach where it is acted upon by digestive juices. तब यह चौथे आमाशय में चला जाता है.

500 66 3 Olivetol अलीबाबा अलीबाबा Alibaba.

फ्रीडल क्राफ्ट अभिक्रिया,युग्मन अभिक्रिया,कोल्बे अभिक्रिया class 12 chemistry फ्रिडेल क्राफ्ट अभिक्रिया by RJ sir RJ chemistry campus Neemrana Why Aniline do not give Friedel Crafts Reaction: क्यों एनीलिन फ्रिडेल क्राफ्ट्स रिएक्शन नहीं देता। Download. अनटाइटल्ड NIOS. B friedel crafts reaction फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया. c.​clemmense reaction क्लीमेंस अभिक्रिया. d.Reimer Tiemann reaction राइमर टाइमैंन अभिक्रिया. 6. the compound which reacts with HBr in accordance with the markownikoffs rule is. मर्कोनिकोफ़ रुल के.


अभिक्रिया in English अभिक्रिया English.

Identify the compound X and write its method of preparation. Write chemical equation involved. यौगिक X एक धातु का क्लोराइड है। यह कक्ष के ताप पर द्वितीयक के रुप में होता है और. उच्च ताप पर एकलक होता है। निर्जलीय रुप में यह फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया में उत्प्रेरक. फेरिक क्लोराइड Buy क्लोराइड,फेरिक क्लोराइड. Iv फ्रिडेल क्राफ्टस अभिक्रिया. a एल्कलीकरण. CH. H c1 CH, AICI b हाइड्रोजन आयोडाइड बेन्जीन से 523 K ताप पर अभिक्रिया कर साइक्लोहैक्सेन तथा मेथिल. साइक्लो पेन्टेन बनाते है। 7 फिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया –. a ऐल्कलीकरण. R​. R C1 Alich.


फ्रीडल क्राफ्ट अभिक्रिया Chemical.

गुजरना कर सकते हैं, देखें acyl halide. Acetylations के दो प्रमुख वर्गों esterification और फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया शामिल है​।. Page 1 एरोमेटिक यौगिक एरोमेंटिक यौगिक Aromatic. प्रयोगशाला में आयरन तृतीय क्लोराइड के रूप में कार्यरत आमतौपर एकलुईस एसिड के लिएCatalysingप्रतिक्रियाओं के रूप मेंक्लोरीनीकरण कीखुशबूदार यौगिकों औरफ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रियाAromatics के. यह कम शक्तिशाली सेएल्यूमीनियम. Source Acetyl क्लोराइड on m. Q. What is your reaction to India s invitation to have talks at the highest level? भारत की शीर्ष स्तरीय वार्ता की पहल पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है? 22. Friedel Crafts reaction फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया. 23. Polymerase chain reaction पॉलिमरेज़ चेन प्रतिक्रिया. 24. Honest. Reaction example sentences reaction English Hindi bilingual. फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रियाएँ कार्बनिक अभिक्रियाओं का एक समूह है जिसका आविष्कार चार्ल्स फ्रिडेल और जेम्स क्राफ्ट्स ने सन् १८७७ में किया था। वस्तुत: ये अभिक्रियाएँ ब्रेज़ीन वलय में एक या एक से अधिक हाइड्रोजन परमाणुओं को ऐल्किल या ऐसिल समूहों द्वारा. वह साम्यावस्था जिस पर दाब बदलने का कोई प्रभाव नहीं होता है, वह है. A H2 g 12 g 2HI g B PCls g PCl3 g Cl2 g. C 2NH3 g N2 g 3H2 g D 2SO2 g O2 g 2SO3 g. Prankar. Sone g. उपर्युक्त अभिक्रिया उदाहरण है. A फ्रिडेल क्राफ्ट्स अभिक्रिया का. Pentamethylindane के hydroxyalkylated है के साथ एक फ्रिडेल ​क्राफ्ट्स अभिक्रिया में propylene ऑक्साइड का उपयोग एल्यूमीनियम.

...