Топ-100 ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 48

ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 48



                                               

सतनाम

सतनाम= सत्नाम, सत्तनाम, परमात्मा का सच्चा--अविनाशी या अपरिवर्तनशील नाम, आदिनाद। सतनाम या सतिनाम गुरुमुखी: ਸਤਿ ਨਾਮੁ गुरु ग्रन्थ साहिब में प्रयुक्त प्रधान शब्द है। यह मूल मंत्र में भी है। सतनाम शब्द भारत के विभिन्न समाज में प्रचलित है। छत्तीसगढ़ मे ...

                                               

सनातन सिख

सनातन सिख वे हैं जो सिख धर्म को हिन्दू धर्म का अंग मानते हैं। उन्होने तत खालसा का विरोध किया था, विशेषतः सिंह सभा आन्दोलन के समय। १८७३ में सनातन सिखों ने खेम सिंह बेदी के नेतृत्व में सिख सभा की स्थापना की। खेम सिंह बेदी, गुरु नानक के वंशज थे।

                                               

सनातन सिख सभा

                                               

सन्त सिपाही

सिख दर्शन में सन्त सिपाही उस व्यक्ति के लिये प्रयुक्त होता है जो मूलतः सन्त हो और धर्म एवं न्याय की रक्षा के लिये सिपाही भी बन जाये। गुरू गोबिन्द सिंह एवं बन्दा सिंह बहादुर को सन्त सिपाही कहा जाता है। सन्त - उस व्यक्ति को कहते हैं जो बुद्धिमान, ज ...

                                               

सरबत्त खालसा

                                               

सिक्खों की मिसलें

मिसलें सिख्ख सम्प्रभु राज्य थे। मुगल बादशाह बहादुशाह 1707-1712 की 10 दिसम्बर 1710 को प्रसारित एक राजाज्ञा से बड़े पैमाने पर सिक्खों का उत्पीड़न आरंभ हुआ। फर्रुखसियर ने भी इस आदेश को दोहरा दिया। लाहौर के गवर्नर अब्दुस्समद खाँ और उसके पुत्र तथा उत् ...

                                               

सिख

सिख धर्म के अनुयायियों को सिख कहते हैं। इसे कभी-कभी सिक्ख भी लिखा जाता है। इनके पहले गुरू गुरु नानक जी हैं। गुरु ग्रंथ साहिब सिखों का पवित्र ग्रन्थ है। इनके प्रार्थना स्थल को गुरुद्वारा कहते ह भारत की आर्थिक प्रगति में सिखों का बहुत बड़ा योगदान है।

                                               

सिख दर्शन

सिख धर्म का दर्शन, उनके पवित्र ग्रन्थ गुरु ग्रन्थ साहिब में अत्यन्त विस्तार से दिया हुआ है। सिख धर्म के अनुयायियों को जीवन-यापन के लिये विस्तृत मार्गदर्शन दिया गया है ताकि इसी जीवन में शान्ति और मुक्ति प्राप्त हो जाय।

                                               

सिख धर्म के विविध सम्प्रदाय

सिख धर्म के सम्प्रदाय से आशय उन परम्पराओं एवं सम्प्रदायों से है जिनका सिख धर्म की मुख्यधारा से निकट सम्बन्ध रहा है किन्तु गुरुओं की किसी अन्य शृंखला को मानते हैं या जो सिख धर्मग्रन्थों का अलग तरह से अर्थ करते हैं, या किसी जीवित गुरु का अनुसरण करन ...

                                               

प्रवेशद्वार: सिख धर्म/चयनित धार्मिक व्यक्ति

                                               

सिख सन्दर्भ पुस्तकालय

सिख सन्दर्भ पुस्तकालय में 1500 दुर्लभ पांडुलिपियाँ मौजूद थे। यह अमृतसर, पंजाब में सिख धर्म के धार्मिक परिसर हरिमन्दिर साहिब में स्थित था। 1984 में भारतीय सैन्य ऑपरेशन ब्लू स्टार के दौरान यह पुस्तकालय नष्ट हो गया।

                                               

सिख साम्राज्य

सिख साम्राज्य का उदय, उन्नीसवीं सदी की पहली अर्धशताब्दी में भारतीय उपमहाद्वीप के पश्चिमोत्तर में एक ताकतवर महाशक्ती के रूप में हुआ था। महाराज रणजीत सिंह के नेत्रित्व में उसने, स्वयं को पश्चिमोत्तर के सर्वश्रेष्ठ रणनायक के रूप में स्थापित किया था, ...

                                               

सिखों के दस गुरू

                                               

हजूर साहिब

हजूर साहिब, सिखों के ५ तखतों में से एक है। यह नान्देड नगर में गोदावरी नदी के किनारे स्थित है। इसमें स्थित गुरुद्वारा सच खण्ड कहलाता है। गोदावरी नदी के किनारे बसा शहर नांदेड़ हजूर साहिब सचखंड गुरूद्वारे के लिए विश्व भर में प्रसिद्ध है। यहां हर साल ...

                                               

होला मोहल्ला

सिक्खों के पवित्र धर्मस्थान श्री आनन्दपुर साहिब मे होली के अगले दिन से लगने वाले मेले को होला मोहल्ला कहते है। सिखों़ ध लिये यह धर्मस्थान बहुत ही महत्वपूर्ण है। यहाँ पर होली पौरुष के प्रतीक पर्व के रूप में मनाई जाती है। इसीलिए दशम गुरू गोविंद सिं ...

                                               

गुरुद्वारे

                                               

दशम ग्रंथ

                                               

भारतीय सिख

                                               

सिक्ख धर्म सुधार आन्दोलन

                                               

सिख उपनाम

                                               

सिख गुरु

                                               

सिख तीर्थ

                                               

सिख धर्म आधार

                                               

सिख पर्व एवं त्यौहार

                                               

सिख व्यवहार

                                               

सिख साम्राज्य

                                               

सिख स्थापत्य

                                               

बू अली शाह क़लंदर

बू अली शाह क़लंदर शेख शरफुद्दीन बु अली शाह क़लंदर पनीपति को बु अली शाह क़लंदर कहा जाता है, भारत में चिश्ती आदेश के एक सूफी संत थे जो भारत में रहते थे और पढ़ाते थे। पानीपत शहर के बू अली शाह कलंदर दरगाह में उनका मक़बरा या दरगाह एक तीर्थस्थल है। उनक ...

                                               

मोइनुद्दीन चिश्ती

ख़्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की मज़ार अजमेर शहर में है। यह माना जाता है कि मोइनुद्दीन चिश्ती का जन्म ५३६ हिज़री संवत् अर्थात ११४१ ई॰ पूर्व पर्शिया के सिस्तान क्षेत्र में हुआ। अन्य खाते के अनुसार उनका जन्म ईरान के इस्फ़हान नगर में हुआ। ख्वाजा मोइ ...

                                               

अल ग़ज़ाली

अबू हामिद मुहम्मद इब्न मुहम्मद अल-गज़ाली, पश्चिम में अल-ग़ज़ाली या अलगाज़ेल के नाम से मशहूर, एक मुस्लिम तत्वग्नानी, सूफ़ी जो पर्शिया से थे। इस्लामी दुनिया में हज़रत मुहम्मद के बाद अगर कोई मुस्लिम समूह को आकर्शित किया या असर रुसूक़ किया तो वो अल-ग ...

                                               

अलाउद्दीन साबिर कलियरी

मखदूम अलाउद्दीन अली अहमद साबिर ; Makhdoom Alauddin Ali Ahmed Sabir: जिन्हें अलाउद्दीन सबिर कलियरी या के रूप में भी जाना जाता है, 13 वीं शताब्दी में एक प्रमुख दक्षिण एशियाई सूफी संत थे। वह बाबा फरीद, के उत्तराधिकारी और चिश्ती आदेश के सबरीया शाखा म ...

                                               

क़ुतुबुद्दीन बख़्तियार काकी

कुतब उल अक्ताब हजरत ख्वाजा सय्यद मुहम्मद बख्तियार अल्हुस्सैनी क़ुतुबुद्दीन बख़्तियार काकी चिश्ती चिश्ती आदेश के एक मुस्लिम सूफी संत और विद्वान थे| वह ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती के अध्यात्मिक उत्तराधिकारी और शिष्य थे, जिन्होंने भारत उपमहाद्वीप में च ...

                                               

ख़्वाजा फ़रीदुद्दीन अत्तार

अबू हामिद बिन अबू बक्र इब्राहीआम तौपर ख़्वाजा फ़रीदउद्दीन अत्तार के नाम से जाने जाते हैं। फ़ारस के नेशांपुर नगर के एक विद्वान थे जिनको सूफीवाद के तीन प्रमुख स्तंभों में गिना जाता है। आपने फ़ारसी भाषा का ग्रंथ मसनवी अत्तार लिखा था। प्रसिद्ध फ़ारसी ...

                                               

गौस-ए-आज़म

                                               

गौस-ए-आज़म

अब्दुल क़ादिर जीलानी, बांग्ला: আব্দুল কাদের জিলানী) अल-सय्यद मुहियुद्दी अबू मुहम्मद अब्दल क़ादिर जीलानी अल-हसनी वल-हुसैनी, ईरान से थे। हम्बली न्यायसूत्र परंपरा और सूफ़ी संत। इनका निवास बगदाद शहर। इनहोंने क़ादरिया सूफ़ी परंपरा की शुरूआत की। सुनी म ...

                                               

मंसूर अल हल्लाज

मंसूर अल हल्लाज एक कवि और तसव्वुफ़ के प्रवर्तक विचारकों में से एक था जिसको सन ९२२ में अब्बासी ख़लीफ़ा अल मुक़्तदर के आदेश पर बहुत पड़ताल करने के बाद फ़ांसी पर लटका दिया गया था। इसको अन अल हक़्क़ के नारे के लिए भी जाना जाता है जो भारतीय अद्वैत सिद ...

                                               

मुल्ला नसरुद्दीन

मुल्ला नसरुद्दीन होजा तुर्की सबसे प्रसिद्द विनोद चरित्र है। तुर्की भाषा में होजा शब्द का अर्थ है शिक्षक या स्कॉलर। उसकी चतुराई और वाकपटुता के किस्से संभवतः किसी वास्तविक इमाम पर आधारित हैं। कहा जाता है कि उसका जन्म वर्ष १२०८ में तुर्की के होरतो न ...

                                               

राबिया अल-बसरी

राबिया अल-अदविया अल-क़ैसिया: अरबी: رابعة العدوية القيسية - एक मुस्लिम संत और सूफी फकीर थीं। वह दुनिया के कुछ हिस्सों में कई नामों से जानी जाती हैं, जैसे हज़रत बीबी राबिया बसरी, राबिया अल बसरी या बस राबिया बसर।

                                               

वारिस अली शाह

वारिस अली शाह ; Waris Ali Shah, हाजी वारिस अली शाह या सरकार वारिस पाक 1819-1905 ईस्वी के मध्य में एक सूफी संत थे, और बाराबंकी, भारत, में सूफीवाद के वारसी आदेश के संस्थापक थे। इन्होंने व्यापक रूप से पश्चिमी यात्रा की और लोगों को अपनी आध्यात्मिक शि ...

                                               

हज़रत निज़ामुद्दीन

हजरत निज़ामुद्दीन चिश्ती घराने के चौथे संत थे। इस सूफी संत ने वैराग्य और सहनशीलता की मिसाल पेश की, कहा जाता है कि 1303 में इनके कहने पर मुगल सेना ने हमला रोक दिया था, इस प्रकार ये सभी धर्मों के लोगों में लोकप्रिय बन गए। हजरत साहब ने 92 वर्ष की आय ...

                                               

सूफ़ी कवि

                                               

गृद्धकूट पर्वत

गृद्धकूट पर्वत भारत स्थित एक पहाड़ी है जो धार्मिक, पुरातात्विक और पर्यावरणीय दृष्टि से अति महत्वपूर्ण है। इस पहाड़ी को गिद्धराज पर्वत भी कहते हैं। स्थानीय लोग इसे गिद्धहा पहाड़ कहते हैं। यह पहाड़ी मध्य प्रदेश के सतना जिले के रामनगर तहसील के देवरा ...

                                               

जगत शिरोमणी मन्दिर, आमेर

जगत शिरोमणि मंदिर एक हिन्दू मन्दिर जो राजस्थान राज्य के आमेर ज़िले में स्थित है। इस मन्दिर में मीरा बाई,कृष्ण तथा विष्णुजी की पूजा पाठ की जाती है। इस मन्दिर का निर्माण १५९९-१६०८ ई. में रानी कनक्वति ने करवाया था। l

                                               

ताज वाले बाबा मजार

ताज वाले बाबा मजार, उत्तर प्रदेश के जनपद प्रतापगढ़ के कुंडा तहसील के हीरागंज गांव में स्थित मुस्लिम एवं हिन्दू समुदाय के लोगो का आस्था का केंद्र हैं। यह प्रतीकात्मक मजार नागपुर के प्रसिद्ध मुस्लिम सूफ़ी संत हज़रत बाबा सैय्यद ताजुद्दीन औलिया को सम ...

                                               

महेन्द्रनाथ मंदिर, सिवान, बिहार

बिहार राज्य के सीवान जिला से लगभग 35 किमी दूर सिसवन प्रखण्ड के अतिप्रसिद्ध मेंहदार गांव में स्थित भगवान शिव के प्राचीन महेंद्रनाथ मन्दिर का निर्माण नेपाल नरेश महेंद्रवीर विक्रम सहदेव सत्रहवीं शताब्दी में करवाया था और इसका नाम महेंद्रनाथ रखा था। ऐ ...

                                               

राजस्थान में जैन धर्म

राजस्थान भारत के पश्चिम भाग में स्थित राज्य है, जिसका जैन धर्म के साथ बहुत ऐतिहासिक सम्बन्ध रहा है। दक्षिणी राजस्थान श्वेताम्बर जैन धर्म का केन्द्र बिन्दु रहा है। दिगम्बर के भी बड़े केन्द्र राजस्थान के उत्तरी व पूर्वी भागों में स्थित हैं।

                                               

लाखामंडल

प्रकृति की वादियों में बसा यह गांव भारत देश के उत्तराखंड राज्य के पाटनगर देहरादून से 128 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमुना नदी की तट पर है। दिल को लुभाने वाली यह जगह गुफाओं और भगवान शिव के मंदिर के प्राचीन अवशेषों से घिरा हुआ है। माना जाता है कि इस ...

                                               

धार्मिक पर्वत स्थल

                                               

पवित्र नदियाँ

                                               

पवित्र शहर

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →