Топ-100 ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 39

ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 39


                                               

आलेख

                                               

रैखिक क्रमादेशन

गणित में रैखिक प्रोग्रामन इष्टतमीकरण की एक तकनीक है जिसमें लक्ष्य-फलन भी रैखीय होता है तथा शर्तें भी रैखिक होतीं हैं। किन्तु इसका कम्प्यूटर प्रोग्रामन से कोई सम्बन्ध नहीं है।

                                               

अनुकोण प्रतिचित्रण

गणित में उस फलन को अनुकोणी प्रतिचित्रण कहते हैं जिसके अन्तर्गत कोण अपरिवर्तित रहते हैं। प्रायः यह समिश्र तल में उपयोग किया जाता है। अनुकोण प्रतिचित्रण में अनन्त-सूक्ष्म चित्रों के कोण और स्वरूप दोनों ही सुरक्षित रहते हैं किन्तु आवश्यक नहीं है कि ...

                                               

त्रिकोणमितीय प्रतिस्थापन

गणित के सन्दर्भ में, त्रिकोणमितीय प्रतिस्थापन का अर्थ है, गैर-त्रिकोणमितीय फलनों के स्थान पर त्रिकोणमितीय फलनों को स्थापित करना। इनके उपयोग से कुछ समाकल सरल हो जाते हैं। प्रतिस्थापन 1. यदि समाकल्य integrand में a 2 − x 2 हो तो, x = a sin ⁡ θ {\di ...

                                               

स्त्री पुरुष समानता

स्त्री पुरुष समानता किसी समाज की वह स्थिति है जिसमें संसाधनों एवं अवसरों की उपलब्धता की दृष्टि से स्त्री और पुरुष में कोई भेदभाव नहीं किया जाता। सभी स्त्री हो या पुरुष, सभी को आर्थिक भागीदारी एवं निर्णय-प्रक्रिया में समान रूप से देखा जाता है।

                                               

बुद्ध का स्त्री विमर्श

बुद्ध अपने मार्ग में स्त्री को दीक्षा नहीं देना चाहते थे | बहुत आग्रह पर ही दीक्षा दे पाये | दीक्षा देने से पहले अतिरिक्त आठ नियमों का प्रावधान किया तब जाकर दीक्षा दी | जिसमें से कुछ इस प्रकार है:- 1. चाहे भिक्षुणी ने सौ वर्ष से उपसम्पदा प्राप्त ...

                                               

जल स्तर

किसी सतह से स्वतंत्र बहते हुए अथवा ठहरे हुए जल की ऊपरी सतह की दूरी को जल स्तर कहते हैं। अधिकांशतः इसका प्रयोग भूमिगत जल के लिए किया जाता है। !Savannah!

                                               

पालकी

इसी नाम पर बनी फ़िलम के लिए यहां जाएं -पालकी पालकी स्त्रियों के वहन के लिए उपयुक्त ढकी कोठरी होती है जिसे प्रायः कहार अपने कंधों पर ढोते हैं। पारंपरिक भारतीय विवाह में पालकी का प्रयोग किया जाता था।।

                                               

जिला एवं सत्र न्यायाधीश

                                               

जठराम्ल

जठराम्ल आमाशय में बनने वाला एक पाचक रस है। जठराम्ल में मुख्यतः हाइड्रोक्लोरिक अम्ल.05–0.1 M, पोटैशियम क्लोराइड तथा सोडियम क्लोराइड होते हैं। प्रोटीनों के पाचन में इस अम्ल की महती भूमिका है।

                                               

पागुर

पागुर कुछ जानवरों के द्वारा की जाने वाली एक क्रिया है जो उनके भोजन के पाचन की प्रक्रिया का एक भाग है। ये जानवर निगले हुए भोजन को आमाशय से पुनः अपने मुंह में लाते हैं, उसे चबाते हैं और फिर उसे वापस पेट में भेज देते हैं। स्तनधारी प्राणियों की लगभग ...

                                               

उदर महाधमनी

यह डायाफ्राम के स्तर पर शुरू होता है, यह पार के माध्यम से अभाव महाधमनी, डायाफ्राम तकनीकी T12 के पीछे कशेरुका स्तर पर. यह कशेरुका स्तंभ के सामने पेट के पीछे की दीवार नीचे यात्रा. यह इस प्रकार काठ कशेरुकाओं की वक्रता के बाद, वह यह है कि पूर्व से उत ...

                                               

मौर्या नगर

                                               

सम्यक् ज्ञान

जैन धर्म में सात तत्वों का यथार्थ ज्ञान सम्यक ज्ञान कहलाता है| इसके पांचभेद है १ मतिज्ञान -इन्द्रियों और मन के निमित्त से होने वाले ज्ञान को मतिज्ञान कहते है २ श्रुतज्ञान - मतिज्ञान से जाने गए पदार्थ के विषय में विशेष जानने को श्रुतज्ञान कहते है ...

                                               

इन्द्रलोक

इंद्रलोक, अमरावती, स्वर्गलोक आदि नाम एक ही स्थान के लिए प्रयुक्त होते हैं। इंद्र देवताओं का प्रमुख हैं और वह उन सबके साथ इंद्रलोक में वास करता है। इंद्रलोक की समृद्धि तथा वैभव का अतिरंजित उल्लेख पौराणिक साहित्य में एकाधिक बार हुआ है।

                                               

वसाचूषण

वसाचूषण, एक सौंदर्य शल्यक्रिया है जिसमें मानव शरीर की कई अलग जगहों से वसा को निकाला जाता है। आमतौपर यह शल्यक्रिया पेट, जांघ, नितंब और गर्दन पर जमी वसा को निकालने के लिए की जाती है। किसी एक सत्र में सुरक्षित रूप से कितनी वसा निकाली जा सकती है, यह ...

                                               

झुलसा रोग

यह रोग जीवाणुजनित है। इस रोग का प्रकोप खेत में एक साथ न शुरू होकर कहीं-कहीं शुरू होता है तथा धीरे-धीरे चारों तरफ फैलता है। इसमें पत्ते ऊपर से सूखना षुरू होकर किनारों से नीचे की ओर सूखते हैं। गंभीर हालात में फसल पूरी सूखी हुई पुआल की तरह नजर आती ह ...

                                               

वर

वर को शब्द के अंत में लगाकर कई प्रकार के शब्द बनाये जाते हैं, जैसे जानवर, ताकतवर, इन शब्दों मे वर की उपाधि एक शरीर के लिये दी जाती है, जैसे जानवर में अगर कह दिया जाये कि वर मे जान है, और दूसरी तरफ़ कह दिया जाये कि वर में ताकत है। वर को वट वॄक्ष भ ...

                                               

ब्यूटी स्किन

ब्यूटी स्किन आज के समय में हर कोई व्यक्ति चाहता है की वो सुन्दर दिखे वो चाहे महिला हो या पुरुष इसके लिए कई तरह के उपाय करते है। इन उपयो में प्राकृतिक उपयो को ज्यादा उपयोग में लाया जाता है । यह प्राकृतिक उपाय त्वचा के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होते है ...

                                               

भगशिश्निका वृद्धि

भगशिश्निका का बढ़ना एक विकार है जो ज्यादातर जन्मजात होता है। किन्तु टेस्टोस्टेरोन समेत एनाबॉलिक स्टेरॉयड के विभिन्न उपयोगों के द्वारा जानबूझकर भी इसकी वृद्धि को प्रेरित किया जा सकता है। यद्यपि यौन उत्तेजना के समय भगशिश्निका में वृद्धि देखी जाती ह ...

                                               

साष्टांग प्रणाम

                                               

वोल्टता स्रोत

वोल्टता स्रोत दो सिरों वाली युक्ति है जिसके सिरों के बीच का विभवान्तर नियत हो। भिन्न-भिन्न धारा देने के बावजूद आदर्श वोल्टता स्रोत के सिरों का विभवान्तर नियत बना रहता है। वास्तव में आदर्श वोल्टता स्रोत असम्भव है किन्तु ऐसे वोल्टता स्रोत बनाए जा स ...

                                               

मानव खोपड़ी

                                               

अस्थिभंग

किसी अस्थि के टूटने या उसमें दरार पड़ने को अस्थिभंग कहते हैं। हड्डियों पर एक सीमा से अधिक बल या झटका लगने से या अस्थि-कैंसर एवं अन्य रोगों के कारण अस्थिभंग हो सकता है।

                                               

सूई

सूई सिलाई में प्रयुक्त औजार है। यह लम्बी और पतली होती है तथा इसका सिरा नुकीला होता है। नुकीले सिरे के विपरीत छोपर एक छेद होता है जिसमें धागा डला रहता है जो कपड़े के दो भागों को आपस में जोड़ने का काम करता है। सबसे पहले हड्डी की सूइयाँ बनीं। आजकल उ ...

                                               

माजूफल

मोसुल यह एक आयुर्वेदिक दवा है जो अंग्रेजी नाम गाल पागल है यह पाया तत्व आपके शरीर में से विषैले वाह अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है आप का उपयोग करें यह कुछ प्रमुख रोग की तरह इस तरह के दांत से संबंधित है और त्वचा रोग में होता है के ...

                                               

प्रयोगपृष्ठ २

तंत्रिका प्लास्टिसिटी के कई उदाहरण हैं। अंगछेदन किगए व्यक्तियों को अंगछेदन के जगह पर एक काल्पनिक दर्द की उपस्थिति का अनुभव करते हैं और इसे फेंटम अंग दर्द के रूप में जाना जाता है। अंगछेदन किगए व्यक्तियों के गाल या बांह की कलाई छूने पर, विच्छेदन भा ...

                                               

फ़ास्फ़ोरस

हमारे शरीर में कई खनिज लवण पाए जाते है जिनमे से फास्फोरस भी एक खनिज है | शरीर के विकास और वर्द्धि के लिए अन्य खनिज लवणों की तरह फास्फोरस की भी अत्यंत आवश्यकता होती है | मानव शरीर में खनिजों में कैल्शियम सबसे अधिक मात्रा में पाया जाता है और कैल्शि ...

                                               

सीपी

एक सीशेल या समुद्री शेल, जिसे बस शेल के रूप में भी जाना जाता है, एक जानवर द्वारा बनागई एक कठिन, सुरक्षात्मक बाहरी परत है जो समुद्र में रहती है। खोल जानवर के शरीर का हिस्सा है। खाली समुद्र तट अक्सर समुद्र तटों पर समुद्र तटों द्वारा धोया जाता है। ग ...

                                               

संधि (बहुविकल्पी)

संधि संस्कृत का एक शब्द है जिसका सामान्य अर्थ होता जोड़, जुड़ाव, योजन इत्यादि। संधि का आधुनिक हिन्दी में कई अन्य अर्थों में भी प्रयोग होता है जिसमें समझौता या सुलह करना मुख्य है। व्याकरण में प्रयोग होने वाला शब्द संधि जैसे, सूर्य + उदय = सूर्योदय ...

                                               

बहिःस्रावी ग्रंथि

बहिःस्रावी ग्रंथियाँ बहिःस्रावी तंत्र की वे ग्रंथियाँ है जो अपना प्रमुख उत्पाद किसी नलिका के द्वारा अपने गन्तव्य तक पहुँचाती हैं। इनके विपरीत अंतःस्रावी ग्रंथियाँ अपना उत्पाद सीधे रक्त में डालती हैं। स्वेद ग्रंथियाँ, लार ग्रंथियाँ, स्तन ग्रंथियाँ ...

                                               

लाला ग्रंथि

स्तनधारियों की लाला गर्ंथियाँ या लार ग्रंथिया लाला उत्पन्न करने वाली बहिःस्रावी ग्रंथियाँ है। लार में बहुत से पदार्थ होते हैं जैसे, एमाइलेज जो स्टार्च को माल्टोज और ग्लूकोज में तोड़ देता है।

                                               

थाइमस ग्रंथि

थाइमस, प्रतिरक्षा प्रणाली का एक विशिष्ट प्राथमिक लसीकाभ अंग है। थाइमस के अन्दर लिम्फोसाइट परिपक्व होते है यह भूर्ण अवस्था से शेष अवस्था तक बढ़ती जाती है यह ग्रंथि थाईमोसीन नामक हार्मोन का स्राव करती हैं

                                               

पुरस्थ

                                               

बल्बोयूरेथ्रल ग्रंथि

                                               

राजस्थान हिंदी ग्रन्थ अकादमी

हिन्‍दी माध्‍यम से उच्‍च शिक्षा प्राप्‍त करने वाले विद्यार्थियों के लिए विभिन्‍न विषयों की पाठ्य एवं संदर्भ-पुस्‍तकों की रचना करवाना राजस्थान हिन्‍दी ग्रन्‍थ अकादमी की स्थापना का उद्देश्य है | गत चार दशक से हिंदी ग्रन्थ अकादमी यह दायित्व सम्‍पादि ...

                                               

साम्ब पुराण

साम्ब पुराण एक सौर पुराण है। यह सूर्य को समर्पित है। मुद्रित संस्करणों में 84 अध्याय हैं। इस ग्रन्थ के अध्याय 53-68 को भी 15 पटलों में विभाजित किया गया है। पुराण

                                               

वाहिकारोध

वाहिकारोध से आशय किसी वाहिका का अवरोधित होना है। वाहिका का अवरोध रक्त के जमने से हो सकता है या रक्तधारा में गैस के बुलबुलेले से हो सकता है और इससे रक्त-प्रवाह रुक सकता है। यद्यपि वाहिकारोध का घटक साधारणतया रक्त का थक्का होता है, तथापि वसा और वायु ...

                                               

पटलक्लोमी

द्विकपाटी, या पटलक्लोमी अकशेरुकी तथा जलीय प्राणी हैं। यह मोलस्का संघ का एक वर्ग है। इसे लैमेलिब्रैंकियाटा, द्विकपाटी, या पेलेसिपोडा भी कहते हैं। चूँकि इनके पाद चपटे होने के बजाय नवतलित अधरीय होते हैं, इसलिए ये पैलेसिपोडा कहलाते हैं। इस वर्ग के प् ...

                                               

क्यूटेनियस कंडीशन

क्यूटेनियस कंडीशन वह चिकित्सीय दशा है जो इंटेगमेंटरी सिस्टम को प्रभावित करता हैं। इंटेगमेंटरी सिस्टम के अंतर्गत त्वचा, बाल, नाख़ून एवं इससे सम्बंधित मांसपेशी एवं ग्रंथि आते हैं। इस सिस्टम का प्रमुख कार्य बाहरी वातावरण से प्रतिरक्षण करना हैं।

                                               

गरुड़ (जापानी)

                                               

हार्डी-वेनबर्ग नियम

हार्डी-वेनबर्ग नियम जनसंख्या आनुवंशिकी का एक सिद्धांत है जिसे हार्डी तथा वेनबर्ग दोनो ने स्वतंत्र रूप से पेश किया है। इस नियम के अनुसार एक आदर्श जनसंख्या में विभिन्न अलील और जीनोटाइप की आवृत्तियाँ पीढी दर पीढी अपरिवर्तित रहतीं हैं। यह नियम उन्हीं ...

                                               

केंचुल

बहुत से जन्तु अपने शरीर का कोई भाग समय-समय पर निकालते रहते हैं। इस क्रिया को केचुलीकरण कहते हैं। पक्षियाँ आदि अपने पुराने पंख छोड़तीं है; कुछ स्तनधारी पुराने बाल त्यागते हैं; साँप एवं कई अन्य सरिसृप अपनी वाह्य त्वचा त्यागते हैं।

                                               

तिकोना जंक्शन

रेल शब्दावली में तिकोना जंक्शन, रेल पटरियों की एक तिकोना आकार की व्यवस्था है जिसके प्रत्येक कोने पर एक पंख या स्विच होता है। रेलमार्ग की मुख्य लाइन पर स्थित रेल जंक्शन जहां दो रेल लाइनें मिलती हैं वहां पर इसे गाड़ियों द्वारा पटरी बदलने के लिए यान ...

                                               

छाल

काष्ठीय वृक्षों के तना, शाखा, जड़ आदि के सबसे ऊपरी आवरण को छाल या वल्क कहते हैं। छाल तकनीकी शब्द नहीं है। छाल को दो भागों में बंटा हुआ मान सकते हैं - आन्तरिक वल्क और वाह्य वल्क। आन्तरिक वल्क में जीवित ऊतक होते हैं जबकि वाह्य वल्क में मृत ऊतक।

                                               

स्थानिक अरक्तता

शरीर के किसी भाग के ऊतकों में रक्त आपूर्ति कमी होना और उसके कारण कोशिकाओं में आक्सीजन और ग्लूकोज की कमी हो जाना, स्थानिक अरक्तता कहलाता है। ऊतकों को जीवित रहने के लिये आक्सीजन और ग्लूकोज बहुत आवश्यक हैं।

                                               

नकली दाँत

नकली दाँत या कृत्रिम दाँत या दन्तावली टूटे हुए दांतों के स्थान पर लगाये जाने वाली युक्ति है। नकली दाँत उस स्थान के मसूड़ों के कोलम एवं कठोर ऊतकों पर आश्रित होते हैं।

                                               

स्वप्रतिरक्षित रोग

वे रोग स्वप्रतिरक्षित रोग कहलाते हैं जिनके होने पर किसी जीव की प्रतिरक्षा प्रणाली अपने ही ऊतकों या शरीर में उपस्थित अन्य पदार्थों को रोगजनक समझने की गलती कर बैठती है और उन्हें समाप्त करने के लिये उन पर हमला कर देती है। इस प्रकार का रोग शरीर के कि ...

                                               

पादपोँ एवं जन्तुओं के संगठन के स्तर

सगंठन के स्तर 1 परमाणु > 2 अणु > 3 यौगिक > 4 कोशिका > 5 ऊतक > 6 अंग > 7 अंगतंत्र > 8 जीव > 9 जनसंख्या > 10 जैव समुदाय > 11 पारिस्थिति तंत्र > 12 जैव मण्डल

                                               

ग्लयोब्लास्टोमा मल्टीफार्मी

ग्लियोब्लास्टोमा मल्टीफ़ॉर्म एक तेज़ी से बढ़ने वाला ग्लियोमा है जो स्टार-आकार की ग्लिअल कोशिकाओं से विकसित होता है जो मस्तिष्क के भीतर तंत्रिका कोशिकाओं के स्वास्थ्य का समर्थन करते हैं। जीबीएम को अक्सर ग्रेड IV एस्ट्रोसाइटोमा के रूप में जाना जाता ...

शब्दकोश

अनुवाद