Топ-100 ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 37

ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 37


                                               

भोमट

भोमट राजस्थान का एक पहाड़ी इलाका है । यह क्षेत्र भील बाहुल्य क्षेत्र है । भोमट क्षेत्र ही मुगलकाल के दौरान मेवाड़ शासकों की शरण स्थल रहा । भोमट के राजाराणा पूंजा भील रहे जो कि एक बहादुर, निडर और एक शक्तिशाली भील राजा थे । राणा पूंजा भील द्वारा मह ...

                                               

धीरवास बड़ा

धीरवास बड़ा भारतीय राज्य राजस्थान के चुरू जिले में स्थित एक गाँव है। यह चुरू जिले की तारानगर तहसील में पड़ता है। यह राज्य मार्ग ३६ पर साहवा से ७ किलोमीटर व तारानगर से २९ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। गांव का नामकरण यहाँ के स्थानीय देवता राणाधीर क ...

                                               

लार्ड पैथिक लारेंस

लार्ड पैथिक लारेंस 1857 में प्रथम स्वतंत्रता आन्दोलन के समय राजपुताना रियासत के AGG थे। तथा 1946 में लंदन में भारत सचिव बनाए गये थे 1946 मे केबिनेट मिशन के अध्यक्ष के रूप मे तीन सदस्य समिति के साथ भारत आये थे।

                                               

महिला आरक्षण विधेयक

महिला आरक्षण विधेयक भारतीय संसद में प्रस्तुत किया गया वह विधेयक है जिसके पारित होने से संसद में महिलाओं की भागीदारी 33% सुनिश्चित हो जाएगी। यद्यपि इस विधेयक को पहले भी कई बार संसद में प्रस्तुत किया जा चुका है, लेकिन इस बार लगभग सभी दल इस विधेयक क ...

                                               

वित्त अधिनियम (भारत)

वित्त अधिनियम भारत का महत्वपूर्ण अधिनियम है। इस अधिनियम के द्वारा भारत सरकार प्रत्येक वित्त वर्ष के आरम्भ में वित्तीय प्रस्ताव रखती है। यह अधिनियम भारत के सभी राज्यों एवं केन्द्र शाशित प्रदेशों पर भी लागू होता है। प्रत्येक वर्ष वित्तमन्त्री द्वार ...

                                               

बिल (बहुविकल्पी)

विविध प्रकार के लेख्यों के लिए बिल शब्द प्रयुक्त किया जाता है। यह अंग्रेजी शब्द है, किंतु अब इसका प्रयोग भारतीय भाषाओं में होने लगा है। न्याय, व्यापाऔर विधि से संबंधित विषयों के लिए इस शब्द का प्रयोग होता है। न्याय में अभियोग चलने से पहले कानूनी ...

                                               

स्थायी समिति (भारत)

भारतीय संसद में, स्थायी समिति एक समिति होती है जिसमें सांसद सदस्य होते हैं। यह एक स्थायी और नियमित समिति है जो समय-समय पर संसद के अधिनियम या प्रक्रिया और आचरण के नियमों के प्रावधानों के अनुसार गठित की जाती है। भारतीय संसद द्वारा किया गया कार्य न ...

                                               

२०वें कुशक बकुला रिनपोछे

                                               

वैतरणी

वैतरणी पुराणों में वर्णित नरकलोक की नदी। गरुड़ पुराण, शंखलिखित स्मृति आदि कुछ ग्रंथों के अनुसार यह शत योजन विस्तीर्ण, तप्त जल से भरी हुई रक्त-पूय-युक्त, मांस-कर्दम-संकुल एवं दुर्गंधपूर्ण है। इस नदी में पापी प्राणी मरने के बाद रोते हुए गिरते हैं औ ...

                                               

याजपुर

याजपुर ओडिशा के तीन स्थल प्रख्यात हैं- भुवनेश्वर, याजपुर" तथा कोणार्क। पुराणों के अनुसार कालिका पुराण के अनुसार प्रथम पीठ औंड्र पीठ है- "औंड्राख्यं प्रथमं पीठं द्वितीयं जाल शैलकम्।.औंड्रपीठं पश्चिमे तु तथैवोंड्रेश्वरी शिवाम्। कात्यायनीं जगन्नाथ म ...

                                               

गिरा जलप्रपात

जीरा जलप्रपात डांग जिले के साथ ही विभिन्न नदियों पर दो अलग-अलग स्थानों में स्थित है। डांग जिले के पश्चिमी भाग में अंबिका नदी पर वघई के पास गिरा जलप्रपात, जो अंबापाड़ा गाँव के पास है। वघई से सापुतारा के रास्ते में,वघई से लगभग डेढ़ किलोमीटर पश्चिम ...

                                               

एमडीएलआर एयरलाइंस

एमडिएलआर एयरलाइंस हरियाणा राज्य में गुड़गांव आधारित एक भारतीय वायु सेवा संचालक थी। यह अनुसूचित अन्तर्देशीय उड़ानें संचालित करती थी। इस कंपनी ने अपनी सेवाएं ५ नवम्बर २००९ से स्थगित कर दी हैं।

                                               

नगरि

                                               

त्रिमुहानी

"त्रिमुहानी" उत्तर प्रदेश के फैज़ाबाद मण्डल के अम्बेडकर नगर जिले के राजेसुल्तानपुर नामक शहर से लगभग 3 किलोमीटर पूर्व की दिशा में है। त्रिमुहानी के ऊपर से राजेसुल्तानपुर आजमगढ मार्ग जाता है।

                                               

मुबारकपुर

मुबारकपुर उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिला के मुख्यालय, आजमगढ़ के निकट स्थित है। मुबारकपुर जिला मुख्यालय के उत्तर-पूर्व से 13 किलोमीटर की दूरी पर है। यह जगह विशेष रूप से बनारसी साड़ियों के लिए प्रसिद्ध है। इस जगह से बनारसी साड़ियों का निर्यात पूरे विश ...

                                               

गोपीनाथ मंदिर

                                               

प्रबोधानन्द सरस्वती

                                               

लोकनाथ गोस्वामी

लोकनाथ गोस्वामी गैड़ीय वैष्णव सन्त थे। उनका जन्म यशोहर के तालखडि ग्राम में सं. १५४० में हुआ था। पिता का नाम पद्मनाम चक्रवर्ती तथा माता का सीता देवी था। यह पंद्रह वर्ष के वय में नवद्वीप आए तथा अद्वैताचार्य के यहाँ भक्तिशास्त्र का अध्ययन करने लगे। ...

                                               

रास महोत्सव

रास महोत्सव भारतवर्ष में विभिन्न विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न विभिन्न स्थानों पर लगने वाला मेला/उत्सव है। यह उत्सव मुख्यत मथुरा-वृन्दावन क्षेत्र में लगता है। यह महोत्सव ब्रज संस्कृति का अंग है। हालांकि यह संस्कृति ब्रज क्षेत्र के बाहर तक फैली हु ...

                                               

ओखा रेलवे स्टेशन

ओखा रेलवे स्टेशन भारतीय रेल का एक रेलवे स्टेशन है। यह ओखा शहर में स्थित है। द्वारिका से २९ कि॰मी॰ दूर स्थित इस छोटे से समुद्रतटीय नगर की ऊंचाई समुद्रत से मात्र 5 मी. है। इससे कुछ दूर समुद्र में एक टापू पर बेट द्वारिका नामक बस्ती है। माना जाता है ...

                                               

जनसंख्या अनुसार गुजरात के शहरों की सूची

2011 की जनगणना के अनुसार भारत के गुजरात राज्य में सबसे अधिक आबादी वाले शहरों की सूची निम्नलिखित है। गुजरात में 28 शहर हैं जिनकी जनसंख्या 100.000 से अधिक है।

                                               

षट्भुज

छः भुजाओं से घिरी बन्द आकृति को षट्भुज कहते हैं। इसके सभी छः अन्तःकोणों का योग 720 डिग्री होता है। जिस षट्भुज की सभी भुजाएँ और सभी कोण समान हों, उसे समषट्भुज कहते हैं। समषट्भुज का क्षेत्रफल √3÷4×6×भुजा×भुजा

                                               

समलम्ब चतुर्भुज

समलम्ब चतुर्भुज एक ज्यामितीय आकृति है। जिसमें ४ भुजाएं होती हैं वे २ भुजा समंतर होती है| =परीभाषा जिस चतुर्भुज की सम्मुख भुजाओं का केवल एक युग्म समान्तर होता है समलम्ब चतुर्भुज कहलाता है।

                                               

पोस्ट आफिस बॉक्स (विद्युत)

पोस्ट आफिस बक्स, ह्वीटस्टोन सेतु का एक रूप है। यह पहले डाकखाने में तारों का प्रतिरोध ज्ञात करने में प्रयुक्त होता था, इसी कारण उसका नाम पोस्ट आफिस बक्स पड़ गया। प्रतिरोध मापन के कई ढंग प्रयोग में लाए जाते हैं। किंतु अधिकांश ढंग ह्वीटस्टोन सेतु Wh ...

                                               

त्रिभुज असमिका

गणित में त्रिभुज असमिका यह है- किसी भी त्रिभुज की किन्ही दो भुजाओं का योग तीसरी भुजा से बड़ा या उसके बराबर होता है। यदि x, y और z किसी त्रिभुज की भुजाओं की लम्बाई हैं, तो त्रिभुज असमिका के अनुसार, z ≤ x + y. {\displaystyle z\leq x+y.} दूसरे शब्दो ...

                                               

भिक्षाटन

भिक्षाटन का शाब्दिक अर्थ है- भिक्षा मांगने के लिये द्वार-द्वार जाना।) भिक्षाटन मूर्ति, शिव का एक रूप है। भिक्षाटन मूर्ति चार भुजाओं वाले एक निर्वस्त्र मनुष्य की मूर्ति है, जो आभूषणों से सुसज्जित है और हाथ में भिक्षा-पात्र धारण किये हुए है।

                                               

हनुमान मंदिर, प्रयागराज

हनुमान मंदिर संगम एवम किला के निकट इलाहाबाद में गंगा यमुना के तट के निकट बड़े हनुमान जी के मंदिर के नाम से ख्याति रखता है। यहां जमीन से नीचे हनुमानजी की मूर्ति लेते हुए अवस्था मे है तथा हनुमान जी अपनी एक भुजा से अहिरावण और दूसरी भुजा से दूसरे राक ...

                                               

केल्विन सेतु

केल्विन सेतु छोटे प्रतिरोध को मापने वाला विद्युत उपकरण है। इसे केल्विन द्विसेतु भी कहते हैं। कुछ देशों में इसे थॉमसन सेतु के नाम से भी जाना जाता है। एक ओम से कम प्रतिरोध का मापन करने वाले उपकरण प्रायः लघु-प्रतिरोध ओह्ममापी, मिली-ओममापी या माइक्रो ...

                                               

मैथिल खाना

मैथली खाने के अंतर्गत निम्नलिखित व्यंजन आते हैं: डालना,दाल भात, माछ भात, बओरी, मखानक खीर, सक्रोरी, दही माथ, दही चुरा,भांजिया,मुड़ी भुजा, आम का आचार,सहजन के शब्जी, आवला और मूली का आचार व अन्य आचार,अदोउरी कुमहरौरी अम के अमोट तीलकोर ऐरकोच चटका तीसयो ...

                                               

शरभ

हिन्दू मिथकों के अनुसार ‘ शरभ ’ भगवान शिव के एक अवतार माने जाते है। इनके शरीर का आधा भाग सिंह का, तथा आधा भाग पक्षी का था। संस्कृत साहित्य के अनुसार वे दो पंख, चोंच, सहस्र भुजा, शीश पर जटा, मस्तक पर चंद्र से युक्त थे। वे सिंह और हाथी से भी अधिक श ...

                                               

अल-अमीन (क्रिकेटर)

                                               

मुठभेड़ (उपन्यास)

यह हिंदी के प्रसिद्ध उपन्यासकार शैलेश मटियानी द्वारा लिखा गया गरीबों के दमन-शोषण पर आधारित उपन्यास है जिसका प्रकाशन 1981 ई. में हुआ था। इसके लिए उन्हें हजारीबाग, बिहार के फणीश्वरनाथ रेणु पुरस्कार 1984 से सम्मानित किया गया था।।

                                               

चुरुलिया

चुरुलिया पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले के आसनसोल उपखण्ड का एक गाँव है। यह आसनसोल से सटा हुआ है। इसी गाँव में प्रसिद्ध कवि काजी नज़रुल इस्लाम का जन्म हुआ था।

                                               

सुदक्षिण

सुदक्षिण कम्बोज का राजा था। उसकी बहन भानुमति का विवाह दुर्योधन से हुआ था। वह एक महारथी भी था और महाभारत के युद्ध में कौरव सेना कि ओर से लडा़। वह चौदहवें दिन के युद्ध में अर्जुन द्वारा मारा गया।

                                               

बेतरतीब पन्ने

अगस्त 2019 में प्रकाशित संजय चौबे के इस उपन्यास के संबंध में हिन्दुस्तान ने इसे ‘तरतीब से बेतरतीब’ कहा. हिन्दुस्तान ने 3 नवंबर 2019 को इसके संबंध में लिखा – कभी-कभी बेतरतीब जिंदगी भी खूबसूरत हो जाया करती है. बस, उसमें एक तरतीब होनी चाहिए. उसमें भ ...

                                               

बुन्देलखंडी

बुंदेलखंडी मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की एक बोली है जो मुख्यतः सागर पन्ना छतरपुर टीकमगढ़ निवाड़ी दमोह ललितपुर झांसी ग्वालियर भिंड मुरैना दतिया विदिशा में बोली जाती है

                                               

सन्मार्ग (पत्र)

सन्मार्ग भारत का हिन्दी भाषा का प्रमुख समाचार पत्र है जो वाराणसी, कोलकाता, पटना, राँची एवं भुवनेश्वर से प्रकाशित होता है। इसके संस्थापक स्वामी करपात्री जी थे। नन्दनानंद सरस्वती इसके सम्पादक थे। यह अखिल भारतीय रामराज्य परिषद के मुखपत्र के रूप में ...

                                               

हाइपरलिंक

संगणन के सन्दर्भ में, हाइपरलिंक या लिंक एचटीएमएल टेक्स्ट का वह भाग है जिसमें किसी अन्य पन्ने या वेबपेज का पता दिया होता है। हाइपरलिंक पर क्लिक करने पर कम्प्यूटर हमें उस पेज या वेबपेज पर ले जाता है। हाइपरलिंकित टेक्स्ट प्रायः अलग रंग में होता है ज ...

                                               

पोनार

                                               

वरदराजन मुदलियार

वरदराजन मुदलियार, जिसे वर्धाभाई और वर्धा के नाम से भी जाना जाता है, एक भारतीय अपराध मालिक था। उनका जन्म तमिलनाडु के तूतीकोरिन में हुआ था। 1960 के दशक से 1980 के दशक तक; वह हाजी मस्तान और करीम लाला के साथ, बॉम्बे में सबसे शक्तिशाली भीड़ मालिकों मे ...

                                               

शाहू द्वितीय

राजाराम द्वितीय के पुत्र थे। वे १७७७ -१८०८ इस काल मे छत्रपति थे। उन के शासनकाल में छत्रपति की शक्ति मात्र सतारा तक ही सीमित रह गई और वे कठपुतली शासक के रूप में जाने जाते थे उनके समय में सबसे ताकतवर मराठा सरदार महादजी शिंदे थे और उनका और समस्त उत् ...

                                               

अजमेर जंक्शन रेलवे स्टेशन

                                               

राजस्थान के मंडल

राजस्थान में ७ मंडल हैं: अजमेर मंडल अजमेर, भीलवाड़ा, नागौर, टोंक भरतपुर मंडल भरतपुर, धौलपुर, करौली, सवाई माधोपुर बीकानेर मंडल बीकानेर, चुरु, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ अलवर, दौसा, जयपुर, झुंझुनू, सीकर जयपुर मंडल जोधपुर मंडल बाड़मेर, जैसलमेर, जलौर, जो ...

                                               

वाणी विलास (रेल पत्रिका)

                                               

राजस्थान के शहर

घड़साना ऋषभदेव सरवाड़ शरीफ मेड़ताशहर मोज़माबाद जयपुर भीलवाड़ा सागवाड़ा नवलगढ अलवर विजयनगर निवाई बयाना रावतसर बाड़मेर दौसाशहर जोबनेर सादूलशहर सीकर पीड़ावा डूंगरगढ रावतभाटा बाड़ीशहर टोंकशहर गुलाबपुरा नौखासर रामगढवाटी नीमकाथाना नीम्बाहैड़ा गंगापुरशह ...

                                               

देवली

                                               

खरवा

                                               

निज़ाम गेट

निजाम गेट अजमेर शरीफ दरगाह का पहला और मुख्य द्वार है जो ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती का सूफी मंदिर है। यह हैदराबाद के अंतिम निज़ाम, 1915 में एचईएच मीर उस्मान अली खान द्वारा बनाया गया था।

                                               

जाना शहीद

इस लेख में शव्द विचित्र ढंग से बिखरे पड़े है, संभवतः गूगल से अनुवाद करने के बाद यथा स्थिति छोड़ दिया गया है, । यहाँ क्लिक कर त्रुटियों को सुधार सकते हैं। हज़रत जाना शहीद बाबा की दरगाह मुंडवा में सबसे लोकप्रिय धार्मिक स्थलों में से एक है। दरगाह एक ...

                                               

बीसलपुर बाँध

बीसलपुर बांध राजस्थान के टोंक जिले में बनास नदी पर बना है। इसका निर्माण कंक्रीट से हुआ हैं।यह बांध जयपुर,टोंक, अजमेर सहित कई शहरों की प्यास बुझाता है व सिंचाई की जरूरतों को पूरा करता है।बीसलपुर राजस्थान के टोंक जिले में स्थित एक गाँव है और यह अपन ...

शब्दकोश

अनुवाद